@asharamjibapu_ सूर्यदेव आत्मदेव के प्रतीक हैं। जैसे आत्मदेव मन को, बुद्धि को, शरीर को, संसार को प्रकाशित करते हैं, ऐसे ही सूर्य पूरे संसार को प्रकाशित करता है। - पूज्य बापूजी
#AsharamjiBapuQuotes
#ThursdayMotivation
#ThursdayThoughts

 20  0  18

Replies

वास्तविक सुख क्या है ? आत्मसुख ।
आत्मसुख पाने के लिए कटिबद्ध होने का दिवस है मकर संक्रांति ।
#AsharamjiBapuQuotes
#ThursdayMotivation
#ThursdayThoughts

 700  156  643